Sunday, April 12, 2015

थियेटर एक्सर्साइज़ : ग्रुप डायनामिक्स 1

बॉडी हाइड 

अभी दो दिन पहले मैंने इस गतिविधि को कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय की लड़कियों के साथ किया। लड़कियों ने इस गतिविधि को खूब एन्जॉय किया। इस गतिविधि के लिए 15 से 20 की संख्या का ग्रुप आदर्श रहता है। मैंने इसे 65 लड़कियों के साथ किया। बड़े समूह में सब की भागीदारी सुनिश्चि करना थोड़ा चुनौतीपूर्ण रहता है। इसके लिए आप ग्रुप में रोटेट करते रहें। 
सभी सहभागी एक घेरे में बैठें। किन्ही 10 सहभागियों को बीच में बुलाकर उन्हें चुनौती दें। सभी सहभागी किसी एक अन्य सहभागी को अपने शरीर का इस्तेमाल करते हुए अपने बीच में इस तरह छुपाएंगे कि बड़े समूह में किसी भी सदस्य को छुपे साथी का कोई भी हिस्सा नहीं दिखना चाहिए। हर बार टीम में से एक सदस्य कम करके चुनौती को बढ़ाते रहें और इसे एक सहभागी के बाकी रहने तक खेलें। देखिए यह खेल कितना रोचक हो जाता है। 
आप देखेंगे कि यह पहले चरण में भी कम मुश्किल नहीं है। लेकिन आखिर चरण तक भी सहभागी इसे सफलता पूर्वक खेलते हैं। 
कस्तूरबा विद्यालय की लड़कियों ने जब इसको खेला तो जब दस लड़कियां मिल कर एक लड़की को छुपा रहीं थीं तब भी आवाज आ रही थी कि यहाँ से नज़र आ रहा है वहां से नज़र आ रहा है। तीन चार तक आते आते संभागी शारीर के अतिरिक्त दूसरे विकल्पों पर भी सोचने लगते है- जैसे दुपट्टा रुमाल इत्यादि। आखिरी लड़की ने भी हार नहीं मानी और उसने अपने दुपट्टे के आलावा कमरे में रखी अलमारी और अपने दुपट्टे की मदद से कर दिखया। 
अपनी रोचकता के अतिरिक्त यह खेल समूह भावना को बढ़ाने में मददगार है। एक बात यह भी विशेष रूप से उल्लेखनीय है कि शुरू में संभागी एक पैटर्न पर समस्या को सुलझाने चल पड़ते हैं। लेकिन एक बिंदु पर आकर यह लगता है कि अब समाधान तभी होगा जब परिपाटी से अलग जाकर विकल्पों पर गौर करें।
(कृपया अपनी टिप्पणी अवश्य दें। यदि यह लेख आपको पसंद आया हो तो शेयर ज़रूर करें।  इससे इन्टरनेट पर हिन्दी को बढ़ावा मिलेगा तथा  मेरी नाट्यकला व  लेखन को प्रोत्साहन मिलेगा। ) 

दलीप वैरागी 
09928986983 

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...